Skip to main content

Law of Attraction in Hindi- आकर्षण का नियम को कैसे इस्तेमाल करें 5 सरल सूत्र

ये आर्टिकल Law of attraction in Hindi उन सभी लोगों के लिए है जो अपनी life मे कुछ करना चाहते है, बड़ा बनना चाहते है या जल्दी से जल्दी अमीर होने चाहते है। Law of attraction in Hindi आर्टिकल उन लोगों के लिए भी है, जिन्होंने अपनी सारी जिंदगी मे मेहनत तो बहुत की है, मगर सफलता नहीं मिली। आकर्षण का नियम है, "जैसे स्वयं को खींचा जाता है" और वह जैसे आकर्षित होता है। मूल रूप से, आकर्षण का नियम कहता है कि जो भी आप अपने दिमाग को सबसे अधिक ध्यान केंद्रित करके आप अपने जीवन में होने वाली सारी घटनाओं को control कर सकते है। आकर्षण का कानून एक सरल लेकिन शक्तिशाली अवधारणा है।

Law of attraction in Hindi

आकर्षण के कानून की मूल बातों का पता लगाएंगे और यह कैसे आसानी से use करने में आपकी मदद कर सकता है। आकर्षण का कानून कारण और प्रभाव के कानून पर आधारित है। सरल शब्दों में, यह कहता है कि जैसे आकर्षित करता है। Law of Attraction के अनुसार, आपका मन जो भी मानता है, आपका शरीर अनुभव करेगा। यदि आप खुश और सकारात्मक विचार सोचते हैं, तो आप अपने वातावरण में सकारात्मकता की ऊर्जा आकर्षित करते हैं।

आकर्षण का नियम (Law of Attraction in Hindi) क्या होता है?

Basically, आकर्षण का नियम Positive और Negative सोच की अवधारणा पर आधारित है। positive, positive को आकर्षित करता है एवं negative, negative को आकर्षित करता है। यह अवधारणा सामान्यतः सच ही साबित होती है क्योंकि इसमे सिर्फ ज्ञान नहीं, विज्ञान का भी aspect दिखता है। चुकी, हमारा शरीर कुछ एनर्जी के source से मिलकर बना होता है जिसे “pure energy” कहते है। इस प्रोसेस मे एनर्जी, एनर्जी को आकर्षित करके, activate करती है, ओर इसके बाद होने वाली घटनाओ मे सामान्यतः देखा गया है की अधिक तीव्र विचारों को एक जगह इकठ्ठा करके, उनको imagine किया जाए तो वो सच होने लगते है।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि कोई भी कार्य करने पर कुछ energy निकलती है, वो energy, छोटे छोटे actions की chain बनाती है, ओर पूरे universe मे ट्रैवल करती है। चुकी हमारा universe 12 नियम के तहत काम करता है, जिन्हे 12 laws of karma भी कहते है। वो छोटे छोटे actions, कही न कही, उस सोचे हुए कार्य के प्रति हमारा रुझान या उसको आकर्षित करना start कर देती है, जिससे हम उस दिए गए लक्ष्य की तरफ या वो लक्ष्य हमारी तरफ खिचा चला आता है।

इस नियम मे ये तक बताया गया है की आप अपनी हेल्थ, वेल्थ और रीलैशन्शिप को भी मजबूत कर सकते है। बस करना है तो अपने विचारों को एकाग्र करके, उन्हे अपने कार्य के प्रति लगा दीजिए जिससे आप अपने लक्ष्य तक बेहद आसानी से पहुँच जाएंगे।

आकर्षण का नियम (Law of Attraction in Hindi) की अवधारणाएं?

ये मूल रूप से positive thoughts को base बनाकर काम करता है। जब भी आप सोचते है, तो positive thoughts के साथ, negative thoughts के लूप मे चलते है। ये ही negative thoughts आपके subconscious mind मे चले जाते है, उसके बाद ये विचार ना चाहते हुए भी आपके actions मे दिखने लगते है, जो की अच्छे भी हो सकते है, और बुरे भी। आपके विचार ही decide करते है की आप क्या बनोगे, ओर क्या नहीं। तो विचारों का हमारी ज़िंदगी मे एक महत्वपूर्ण किरदार होता है। इन विचारों को collect करके जब हम एकाग्र होकर सोचते है तो ये विचार हमारी जीवन शैली मे adopt होने लगते है। ये positive thoughts एवं positive emotions मिलकर हमे उस लक्ष्य को अपनी ओर आकर्षित करते है।

इस आकर्षण के नियम का एक मूलभूत rule है की आपको negative thinking को avoid करके, positive thoughts के साथ replace करके सोचना होगा की जो काम अपने करना है या आपने सोचा है, वो हो गया है, या होने ही वाला है।

उदाहरण के लिए, यदि आपको अमीर इंसान बनना है तो सोचिए आप अमीर बन चुके है, यदि आप चाहते है की आपका business अच्छा चले तो सोचिए की आप already बहुत बड़े businessman है, यदि आप चाहते है की आपका family relation सही करना है, तो सोचिए आपकी family मे already बहुत अच्छी bonding है। तो इस आकर्षण के नियम मे हमे imagine करके, ये सोचना है की काम पहले से ही हो चुका है। ओर उन विचारों को अधिकता एवं तीव्रता जितनी ज्यादा होगी, काम उतनी जल्दी हो जाएगा।

आकर्षण का नियम केवल खुद को और दूसरों को याद दिलाने का एक तरीका है, कि हमारे पास पहले से ही वही है जो हम चाहते हैं, या आवश्यकता है। यह हमें नकारात्मक के बजाय सकारात्मक चीजों पर ध्यान केंद्रित करने की याद दिलाने के बारे में है।

आकर्षण का नियम (Law of Attraction in Hindi) पर कैसे trust करे?

बहुत से लोग हैं जो आपको बताएंगे कि आकर्षण का नियम समझने के लिए एक कठिन चीज है, और इसे समझना असंभव है। कई लोग इस अवधारणा से इतने निराश हो गए हैं कि उन्होंने बस इस पर अपना मुंह फेर लिया है और कहा है कि आकर्षण का कानून काम नहीं करता है। इन लोगों को क्या एहसास नहीं है सारी दुनिया इसी नियम के हिसाब से चलती है, ओर हमेशा चलती रहेगी।

आप यह कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं कि यह आपके लिए काम कर रहा है? इस सवाल का जवाब देने का एक तरीका खुद पर विश्वास होना है। एक बार जब आप किसी भी नकारात्मक विचारों से खुद को अलग करने में सक्षम हो जाते हैं, तो आपको यह विश्वास करने के लिए बेहतर होगा कि universe के नियम का आपके जीवन मे क्या प्रभाव होता है। आपको खुद को समझाने की कोशिश करने की ज़रूरत नहीं है कि आप सफल होंगे - यह मानना ​​कि यह आपकी वास्तविकता का एक तथ्य है। यदि आप इसे अपने लिए नहीं मानते हैं, तो आप इसे कभी हासिल नहीं कर पाएंगे।

दूसरी बात जो आपको करनी चाहिए, वह है अपने बारे में अपने विश्वासों की जांच करना। कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिनके पास जीवन में अपने अवसरों और सपनों को पूरा नहीं कर पाते, क्योंकि उन्हें लगता है कि वे इन्हे काभी पूरा नहीं कर पाएंगे क्योंकि वो इसके लायक नहीं हैं, या वे  उनकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरते। इसे आत्म-भ्रम (Self-delusion) कहा जाता है, और यह जीवन में आपकी सफलता के लिए बहुत harmful है। इसलिए एक सफल इंसान बनने का पहला कदम यह है कि आप अपने और अन्य लोगों के बारे में सोचने के तरीके को बदलें और अपनी क्षमताओं के बारे में अधिक convinced हों।

आकर्षण का नियम (Law of Attraction in Hindi) को कैसे इस्तेमाल करें ?

तो, एक पूर्ण परिवर्तन करने के लिए आपको क्या करने की आवश्यकता है?

मानसिकता

सबसे पहले, आपको अपनी मानसिकता बदलनी चाहिए और सफलता की ओर बढ़ने के लिए तैयार रहना चाहिए। मानसिकता आकर्षण का नियम के नियम की नींव है। यहाँ मानसिकता को समझने की जरूरत है की ये आपके thought process मे यहां भूमिका निभाती है, जैसे विचार आएंगे, वो वैसा ही काम करेंगे। अगर आप सिर्फ अच्छी चीजों को ही आकर्षित करना चाहते हो तो आप अपनी मानसिकता से negative word को remove कर दो ओर सफलता की ओर देखना start कर दो। अपने विचारों को सही जगह पर लगाकर, mindset को ही बदल डालो।

आदतें व दिनचर्या

दूसरा, आपको अपनी सभी आदतों, दिनचर्या और विचार प्रक्रियाओं की जांच करने की आवश्यकता है जो आपने इस विश्वास के इर्द-गिर्द विकसित की हैं कि सफलता एक ऐसी चीज है जिसे आप केवल कड़ी मेहनत और प्रयास से हासिल कर सकते हैं। अंत में, आपको यह तय करना होगा कि आप उन नई मान्यताओं पर कार्य करने के लिए तैयार हैं। एक बार जब आप अपनी मानसिकता बदल लेते हैं और अपनी आदतों, दिनचर्या और विचार प्रक्रियाओं को बदल लेते हैं, तो आप economic सफलता की ओर अपनी यात्रा शुरू कर सकते हैं।

विचार प्रक्रिया (Thought process)

Thought process, जीवन की सबसे पहली necessity है। इसमे होता क्या है, आकर्षण के नियम के अनुसार, आपके विचार ही आपकी मंजिल को ते करते है। और अपने विचारों को control करके जब हम आगे बढ़ते है तो हमे एक सही दिशा मिलती है। कोई काम नहीं हो सकता या ये काम काभी नहीं होगा, ये सारे sentences जिनमे नहीं शब्द का प्रयोग आता है उन्हे आप आज ही छोड़ दीजिए। आकर्षण के नियम के अनुसार हमे सिर्फ positive ही सोचना है, और बड़ी गंभीरता के साथ अपने thoughts पर नजर रखनी है। एक नेगटिव विचार आपके विचार प्रक्रिया को बदल सकता है।

माइन्ड्सेट (Mindset)

Mindset आपके आसपास के वातावरण पर भी निर्भर करता है, आप कैसे लोगों से मिलते जुलते हो, आपके दोस्त कैसे है, आप क्या बातें करते हो। mindset मतलब आपकी प्रोसेस मे जुड़े कुछ तथ्य (Facts) जिनको reference बनाकर आप निर्णय लेते हो। mindset कोई भी change कर सकता है। आकर्षण के नियम मे, mindset का योगदान उतना ही है जितना विचारों का। हमेशा positive mindset रखें, जिससे आपके विचार भी पाज़िटिव हो सके। हमेशा एक बार याद रखे की, आकर्षण का नियम आपके द्वारा सोची गई हर एक बात पर निर्भर करता है। अगर आप हमेशा positive सोचते है तो डरने की कोई बात नहीं है, अगर आप हर बात मे कोई नेगटिव विचार को ले आते है तो आप आज ही, या अभी अपना सोचने का तरीका बदलना पड़ेगा।

Law of attraction in Hindi, हिन्दी मे आकर्षण के नियम को समझने के लिए यह video देखें-

इस video मे सरल भाषा मे आकर्षण के नियम को समझाया गया है, जिसे देखकर, सीखकर आप अपने जीवन मे होने वाली सभी घटनाओं पर control पा सकते है और अपने सपनों को सच कर सकते है। इस Law of attraction in Hindi video मे समझाया गया है की, ये नियम का पालन कैसे करे और इससे कैसे अपनी लाइफ को एक नई दिशा दिखा सकते है।

आकर्षण का नियम के द्वारा सफलता प्राप्त करने के 5 सूत्र

पहला सूत्र

अब आपको क्या करना चाहिए, अपने सबसे बड़े जीवन लक्ष्यों को लिख लें और उनकी कल्पना करना शुरू कर दें। एक-एक करके प्रत्येक लक्ष्य को पूरा करते हुए स्वयं चित्र बनाएं।

दूसरा सूत्र

अपने आप को सफल, धनी, स्वस्थ आदि बनने की कल्पना करें, फिर अपने कंप्यूटर स्क्रीन के ऊपर एक विज़न बोर्ड लगाएं और उस पर आप अपने दैनिक लक्ष्य लिखें, इस तरह यह आपकी वास्तविकता का हिस्सा बन जाएगा और आप उन सभी भावनाओं को आकर्षित करेंगे जो सफलता के लिए आवश्यक हैं ।

तीसरा सूत्र

अब तीसरा सूत्र सकारात्मक सोच का उपयोग करना है, एक बहुत ही सामान्य लक्ष्य जिसे हम आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। सकारात्मक सोच एक शक्तिशाली चीज है जो हमेशा assurance के साथ आता है। हम हर समय खुश, सकारात्मक विचारों को सोचकर सकारात्मक सोच का उपयोग कर सकते हैं। हमें जो भी चाहते है, हमें आकर्षित करना होगा, हमें बस यह विश्वास करने की आवश्यकता है कि यह सच होगा। इस शक्ति से आप मनचाही चीज आसानी से हासिल कर सकते हैं।

चौथा सूत्र

अपनी इच्छा से कुछ भी प्रकट करने का चौथा सूत्र है, अच्छा महसूस करने का अभ्यास करना। यह एक सार्वभौमिक नियम है, इसलिए यह ब्रह्मांड और आपके भौतिक शरीर पर भी लागू होता है। ये आपके दृढ़ विश्वास पर based है, जितना ज्यादा गंभीरता से सोच जाएगा, उतना ही अच्छा result देखने को मिलेगा। अगर आप अमीर बनना चाहते है तो, सोचिए की आप अमीर बन चुके है।

पचवां सूत्र

आपको अपने जीवन में सभी नकारात्मक भावनाओं से छुटकारा पाना चाहिए और उन्हें सफलता और उन्हे सकारात्मक भावनाओं से बदलना चाहिए। यह एक simple statement है, लेकिन concept काफी deep है। इसे पूरी तरह से समझने के लिए, आपको ब्रह्मांड पर सार्वभौमिक कानूनों और उनके प्रभाव को समझना शुरू करना चाहिए।

तब आपको समझ में आने लगेगा कि आप अपने जीवन, ऊर्जा और कंपन के नियंत्रण में हैं, और जब तक आप इसे नहीं समझ सकते तब तक इसे बदलने का कोई तरीका नहीं है। इस समझ के साथ जो कुछ भी बनाने की शक्ति आती है, वह है आपकी इच्छा। आपको लगने लगेगा कि आप अपने जीवन में होने वाली छोटी-छोटी चीजों से चमत्कार बनाने में सक्षम हैं। इन छोटी-छोटी बातों में एक राज होता है, बहुत गहरी बातें भी शामिल है, जो आपको लंबे समय के लिए successful बना सकती है। bottom line यह है कि चमत्कार संभव है, लेकिन आपको खुद से पूछना होगा कि क्या आप उन पर विश्वास करते हैं या नहीं

निष्कर्ष

यदि आप जानना चाहते हैं कि आकर्षण के नियम का उपयोग करके अपने सपनों को कैसे सच कर सकते है तो आपको आज से ही इस पर विश्वास करना शुरू कर देना होगा। एक बार जब आप इस प्रक्रिया के बारे में कुछ ज्ञान प्राप्त कर लेते हैं तो आप दूसरों को उसी तरीके से निर्देश दे पाएंगे। आकर्षण के कानून के माध्यम से उपलब्ध संसाधनों में से कुछ में इच्छा का कानून और आवश्यकता का कानून शामिल हैं। सकारात्मक योजना और विज़ुअलाइज़ेशन की शक्ति बनाने पर भी जानकारी है।

आकर्षण के नियम का उपयोग आपकी खुद की economical stable बनाने के लिए किया जा सकता है। ऐसा करने के लिए आपको सीखना होगा कि आपके vibration कैसे "match" करें। आप इसे जीवन में उन चीजों का चयन करके करते हैं जो एक विशेष आवृत्ति पर कंपन करती हैं। 

Tag: Law of attraction in Hindi, आकर्षण का नियम, Law of attraction, how to use Law of attraction

सफलता के सूत्र 
आकर्षण का सिद्धांत

Comments

Popular posts from this blog

How to Start a Blog in India- Blogging SEO Tips

Starting a blog is remarkably simple if you know the right steps to take. How to Start a blog India is one of the biggest questions I get from people. The first step is choosing a good topic or subject for your blog. Next, write up your plan of attack on what you want to get out of your new blogging venture. Finally, pick a domain name and hosting company. How to Start a blog in India is not as hard as you may think. In fact, there are many resources online to help you get started. I am going to list the steps below that you can use to get your own blog up and running. Pick a Name Pick a catchy name for your new blog. Emphasize what you're going to be covering in your blog's posts with an interesting name. Choose your blog design wisely. Choose a style that matches your personality. Set up your website, then start writing posts about your topic. Use your unique voice and tone to share your experiences. Domain Name Get your domain name in place so your site is avai

Digital Marketing Methods - Tips For Innovative Digital Marketing Strategies

I t's interesting to compare the three leading digital marketing methods in the present, advertising via email, social media, and paid search. The first two are traditional forms of media marketing (press releases, announcements, special offers, discounts, etc.) while the third is extremely new. Digital Marketing Methods Digital Marketing Methods Most people remember the old model of Search engine marketing (SEM). It was extremely popular back then, but even it is increasingly outdated. A lot of SEM experts and critics have predicted that with the advent of web 2.0, SEM will become a relic of the past. This is not true at all. In fact, with the introduction of mobile devices to every household and offices, Customer relationship management (CRM) methods can take over from the SEM as a trusted way of getting a client's attention. Experts and marketers think that marketing via email has become a very complex work. However, it is something that companies and